October 2017

You are browsing the site archives for October 2017.

तलाश Hindi Poem

यूँ ही तेरा हँस देना, फिर अचानक कुछ रूठ जाना, मेरी खिल्ली उड़ाना, फिर पीछे पड़कर मना लेना, हाथ थामने कि तुझसे ज़िद्द करना, एक नासमझ से हठ करना, गुस्सा होकर मेरा सो जाना, हथेली कि गर्माहट माथे पर महसूस करना |   तू प्यार है किसी और का, तेरी दोस्ती है मेरी, तेरी ज़िद्द…

Read more तलाश