hindi poems

bikhre-pal

प्यार का इज़हार ज़रा मुश्किल था, उसपर तेरा इकरार जैसे नामुमकिन था, किया जो तुने इकरार लगा कोई सपना था, क्यूँ दिखाया मुझे सपना जब मेरा दिल ही तोडना था. […]

निर्भया

ज़िन्दगी के लव्जों से अधूरी कहानी लिखती हूँ, अंतर्मन की किरणों से रौशनी करती हूँ, झंझोरा गया है मेरी आत्मा को, फिर भी उठने की जग्दोजेहेद करती हूँ। इस कदर […]

asmanjas

क्या लिखू क्या न लिखू पता नहीं, हम उन्हें याद नहीं ये भी तो गिला नहीं, वक़्त की लौ में जले जा रहे हैं, जल से दुश्मनी करे जा रहे हैं। […]

Zindagi... Ek Sangharsh

ज़िन्दगी में खुशियों कि कमी सी होती जा रही है, जैसे प्यार की कमी नफरत से पूरी होती जा रही है, हर तरफ उदासी का आलम छाया है, हँसते हुए […]

ek-bar-phir

Ek bar phir udasi ne apna rukh badla hai, Ek bar phir udasi ki in hawao ne mujhe chua hai, Ek bar phir sawalon ki andhi chali hai, Ek phir […]

दास्तान

बचपन बीता बचपने में, लड़कपन बीता खेल खिलोनो में, जवानी लायी नयी तरंगें, किताबें न बन पायी उमंग कि पतंगें| भीड़ में सब दौड़ते हैं, दोस्त-साथी पीछे छूट चुके हैं, […]