nazm

शिकायत नहीं आत्मसम्मान पर वार करने वालो से,
कमबख्त तकलीफ तो रूह कि कैफियत से होती है|