detiny

जब इबादतों कि ताकत कहर बनकर गिरती है,
रक्त में घुलकर पसीने कि महक देती है,
तब किस्मत कि परियाँ भी घुटने टेक देती हैं|