तन्हाई से मुलाकात यूँ ही नहीं हुआ करती,
वक़्त लगता है अपनों को आज़माने में|

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.